प्रयागराज में जुमे की नमाज के पहले ड्रोन कैमरे से हो रही निगरानी, छतों पर ईंट-पत्थर ढूंढ रही 'तीसरी आंख'


कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क प्रयागराज

यूपी के प्रयागराज (Prayagraj) समेत कई जिलों में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुए पत्थरबाजी और दंगे के बाद प्रयागराज पुलिस अलर्ट मोड में आ गई है. पुलिस किसी भी तरह से शहर का माहौल खराब नहीं होने देना चाहती है. अब पुलिस ड्रोन कैमरे की मदद से शहर के संवेदनशील इलाकों में छतों पर ईंट-पत्थर तलाश रही है. दरअसल जुमे की नमाज के बाद शुक्रवार को अटाला इलाके में हुए बवाल के मद्देनजर खुफिया विभाग अलर्ट है। मुस्लिम इलाकों में निगरानी हो रही है। संदिग्धों की गतिविधियों को खंगाला जा रहा है। वहीं, ड्रोन से भी नजर रखी जा रही है। खासकर छतों को देखा जा रहा है कि कहीं ईंट का ढेर तो नहीं लगा है।


घर बनाने को रखे ईंट-पत्थऱ से किया फोर्स पर हमला

अटाला चौराहे पर हुए बवाल के बाद पुलिस अधिकारियों ने जांच की तो पता चला कि मकान के निर्माण के लिए जो ईंट रखी गई थीं, उसका इस्तेमाल पथराव के लिए किया गया था। दो दिन स्थानों पर जमीन को घेरने के लिए बनाई गई चहारदीवारी की ईंटों को उखाड़ लिया गया था। हालांकि, मकान निर्माण के लिए ईंट किसने रखवाई थी, उसका पता नहीं चला। इससे यह साफ हो गया कि पत्थरबाजों को यह सब कुछ पहले से पता था। वह जानते थे कि ईंट कहां-कहां हैं, इसलिए वहीं पर वह एकजुट होकर पत्थरबाजी करने लगे थे। छतों से भी पत्थरबाजी की गई थी। यानि वहां भी पहले से ईंटों की व्यवस्था थी।

यह भी पढ़ें : Railway Update: यात्रा पर निकलने से पहले चेक करें रद्द ट्रेनों की लिस्ट, आज रेलवे ने कुल 138 ट्रेनों को किया है कैंसिल

ऐसे में आगे इस प्रकार की घटना न हो, इसके लिए पुलिस अफसरों ने ड्रोन का इस्तेमाल किया है। शहर के पुराने इलाके करेली, नूरुल्ला रोड, शाहगंज, अतरसुइया, कोतवाली, खुल्दाबाद, अटाला, गौसनगर, जेके आशियाना, रसूलपुर, रोशनबाग समेत अन्य मुस्लिम इलाकों में ड्रोन से नजर रखी जा रही है। घर की छतों और गलियों में देखा जा रहा है कि कहां ईंट का ढेर लगा है। जहां भी यह ढेर नजर आ रहे हैं, तत्काल अधिकारियों को सूचना दी जा रही है। उधर, खुफिया विभाग भी मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में जगह-जगह तैनात है। लगातार भ्रमण कर स्थिति का जायजा लिया जा रहा है। खुफिया विभाग के अधिकारियों ने मुखबिरों को भी लगा रखा है और उनसे भी इनपुट ले रहे हैं। जिनकी गतिविधियां संदिग्ध लग रही हैं, उन पर खास नजर रखी जा रही है। इसकी पल-पल की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें : Breaking: अग्निपथ स्कीम पर शहर-शहर संग्राम, ट्रेनों में आग, हाईवे पर जाम और बरसे पत्थर



एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने