जंघई जंक्शन के नवीनीकरण में जमकर हो रही लूट, दोयम दर्जे का मटेरियल लगाने का आरोप


कवरेज इंडिया न्यूज़ ब्यूरो, प्रयागराज

जंघई। इन दिनों प्रयागराज जनपद की सीमा से सटे हुए जंघई जंक्शन रेलवे स्टेशन का सौंदर्यीकरण एवं नवीनीकरण का कार्य चल रहा है जिससे क्षेत्रवासियों में खुशी का माहौल है तो वहीं दूसरी ओर निर्माण कार्य में दोयम दर्जे का सामान इस्तेमाल होने एवं सरकारी धन के दुरुपयोग से स्थानीय लोगों में खासा नाराजगी भी है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि जंघई जंक्शन पर बन रहे भवन, स्टैंड, आरक्षण केंद्र, मुख्य गेट, प्लेटफार्म आदि बनाने में न सिर्फ मानकों की अनदेखी की जा रही है बल्कि निर्माण कार्य में इस्तेमाल होने वाला सीमेंट, बालू, ईंट, गिट्टी, सरिया आदि सभी सामान दोयम दर्जे का इस्तेमाल किया जा रहा है। कवरेज इंडिया संवाददाता ने जब इस विषय में डीआरएम लखनऊ से वार्ता की तो उनका कहना था कि मामले की जानकारी मुझे नहीं है फिलहाल मैं अपने स्तर से इस प्रकरण की जांच कराऊंगा। 

गौरतलब है कि जंघई जंक्शन का कायाकल्प एवं नवीनीकरण करने हेतु लगभग 90 करोड़ रुपए का बजट केंद्र सरकार द्वारा आवंटित किया गया है जिसे पूरी ईमानदारी से निर्माण कार्य में लगा कर घोटाले बाजी में लिप्त लोग अब इस बजट को डकारने की फिराक में है। बता दें कि जंघई जंक्शन प्रयागराज, भदोही, और जौनपुर जनपद की सीमा पर स्थित है। यहां से प्रतिदिन हजारों यात्री जीवकोपार्जन हेतु मुंबई, दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, गुजरात एवं देश प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में आवागमन करते हैं। जंघई जंक्शन की मासिक आय लगभग 3 करोड़ है इसके बावजूद स्टेशन पर सौंदर्यीकरण नवीनीकरण कार्य में धन का दुरुपयोग किया जा रहा है जिससे आम जनमानस में घोर निराशा के साथ ही आक्रोश भी है। 

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने