फेक न्यूज एक्सपोज: पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाली लड़की से गले मिले राहुल गांधी? जानिए इस वायरल PHOTO का सच


कवरेज इंडिया न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। Rahul Gandhi hugs the girl who raised कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा राहुल गांधी के नेतृत्व में लगातार आगे बढ़ रही है. आए दिन पद यात्रा में हजारो लोगों का हुजूम उमड़ रहा है. केरल से शुरु हुई यात्रा में लोगों को जबरदस्त प्रदर्शन मिलता दिख रहा है. वहीं दूसरी ओर भारत जोड़ों यात्रा को लेकर भाजपा नेताओ और उनके समर्थकों ने एक बार फिर तस्वीर को गलत दावे के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किया है. कांग्रेस ने इस दुष्प्रचार को जवाब देते हुए सच सामने रखा है. फिलहाल इस वायरल तस्वीर का सच सामने लाने के लिए आपके अपने पसंदीदा और विश्वसनीय न्यूज़ चैनल कवरेज इंडिया ने पड़ताल शुरू की तो जो हकीकत सामने आई उसे जानकर बीजेपी समर्थकों को झटका लग सकता है.

दरअसल फोटो में राहुल गांधी के साथ एक लड़की दिखाई दे रही है. इसे लेकर दावा किया जा रहा है कि फोटो में दिख रही लड़की ने पिछले साल फरवरी में ओवैसी के मंच से ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए थे. हालांकि फोटो का सच कुछ और ही निकला. फोटो में दिख रही लड़की ने खुद ही इसका खुलासा किया.


आरोप-प्रत्यारोपों के बीच फोटो में दिख रही लड़की का हमने सच जानने की कोशिश की. हमें पता लगा कि फोटो में दिख रही लड़की केरल की स्टूडेंट मिवा आंद्रेलियो (Miva Andrelio) हैं, जिसे भारत की जनता पार्टी की आईटी टीम द्वारा पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने वाली अमूल्या लियोना बताकर शेयर किया जा रहा है. वायरल हो रही फर्जी तस्वीर और फर्जी पोस्ट के बारे में खुद मिवा आंद्रेलियो ने अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया है.


उन्होंने राहुल गांधी के साथ फोटो पोस्ट करते हुए लिखा कि मेरी जिंदगी का सबसे खुशनुमा पल. उन्होंने राहुल के साथ उनकी फोटो से जुड़े फेक न्यूज के पोस्ट को भी पोस्ट किया.

Amulya Leona कौन हैं?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमूल्या लियोना ने 20 फरवरी 2020 को बेंगलुरु के फ्रीडम पार्क में AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी की साथ मंच शेयर किया था. एंटी CAA-NRC की रैली के इस मंच से अमूल्या लियोना ने 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगाए थे. हालांकि तब ओवैसी ने अमूल्या का विरोध कर माइक छीन लिया था. वहीं पुलिस ने अमूल्या को गिरफ्तार कर लिया था.

यह पहली बार नहीं है जब भारतीय जनता पार्टी की आईटी सेल द्वारा अपने ही समर्थकों को गुमराह करने वाले पोस्ट प्रचारित और प्रसारित करने के लिए दिए जा रहे हैं. इससे पहले भी कई बार कांग्रेसी सहित अन्य विपक्षी दलों के फोटो और वीडियो को एडिट या फोटो शॉप करके गलत तथ्यों के साथ परोसा जा चुका है जिसे आज की युवा पीढ़ी या यूं कहें बगैर सोचे समझे किसी भी पोस्ट पर प्रतिक्रिया करने वाले लोग सच मानकर शेयर कर रहे हैं.


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने