कर्नाटक का मुख्यमंत्री पद लेने के लिए देने होंगे 2500 करोड़ रुपये, कांग्रेस नेता का सनसनीखेज दावा, पढ़िए विस्तार से


कवरेज इंडिया न्यूज़ डेस्क

कर्नाटक में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले विपक्षी कांग्रेस अक्रामक तेवर दिखा रही है। कर्नाटक विधान परिषद में विपक्ष के नेता कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद ने शुक्रवार को कहा कि मुख्यमंत्री पद बहुत महंगा मामला है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने सीएम पद की कीमत 2,500 करोड़ रुपये बताई थी। 


रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा, "मुख्यमंत्री पद के लिए बहुत अधिक उम्मीदवार खड़े हैं और इसमें बड़ी रकम भी शामिल है। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता के अनुसार, किसी को भी (सीएम पद के लिए) 2,500 करोड़ रुपये खर्च करना होगा।" बता दें कि बसवराज बोम्मई को मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने की अटकलें एक महीने से ज्यादा समय से लगाई जा रही हैं। हालांकि यह पहली बार है जब किसी विपक्षी नेता ने यह आरोप लगाया कि सीएम पद के लिए कीमत चुकानी पड़ती है।


दरअसल कांग्रेस नेता का इशारा भाजपा विधायक बसनगौड़ा पाटिल यतनाल की तरफ था। यतनाल ने इसी साल मई में दावा किया था कि कुछ लोगों ने उनसे संपर्क कर 2,500 करोड़ रुपये में राज्य के मुख्यमंत्री पद की पेशकश की। हालांकि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया था लेकिन कहा कि धोखाधड़ी करने वाली कुछ कंपनियां ऐसा करती हैं। यतनाल ने कहा, ‘राजनीति में एक बात जान लीजिये, झांसे में मत आइए। राजनीति में कई चोर मिलेंगे जो टिकट दिलाने, दिल्ली ले जाने, सोनिया गांधी, जेपी नड्डा से मिलवाने की बात कहते हैं। उन्होंने मेरे जैसे लोगों के साथ ऐसा किया है।’ उन्होंने कहा, ‘कुछ लोगों ने दिल्ली से मेरे पास आकर कहा कि वे मुझे मुख्यमंत्री बनवाएंगे और मुझे केवल 2500 करोड़ रुपये की व्यवस्था करनी है।’ 


वैसे राज्य में ताजा अटकलें यह है कि लिंगायत के मजबूत नेता बीएस येदियुरप्पा को संसदीय पैनल में शामिल किए जाने के बाद, भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व बोम्मई को किनारे कर सकता है। हालांकि हाल ही में बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव अरुण सिंह ने बोम्मई को बाहर किए जाने की अफवाहों को खारिज कर दिया था। उन्होंने कहा था कि कर्नाटक में अगले साल चुनाव होने तक बोम्मई ही मुख्यमंत्री बने रहेंगे। 


उन्होंने कहा, "बोम्मई को हटाने का कोई सवाल ही नहीं है। हमारे नेतृत्व ने उन पर पूरा भरोसा जताया है। वह निश्चित रूप से अपना कार्यकाल पूरा करेंगे।" उच्च शिक्षा मंत्री और बसवराज बोम्मई के एक अन्य वफादार अश्वत्नारायण ने भी दोहराया कि वह चुनाव तक मुख्यमंत्री बने रहेंगे। अश्वत्नारायण ने कहा, "मौजूदा मुख्यमंत्री बने रहेंगे। वह ही हमारे मुख्यमंत्री होंगे। पता नहीं ये अफवाहें कहां से आ रही हैं।"  


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने