गुजरात: 3 साल की लड़की से दुष्कर्म करने वाले को फांसी की सजा - COVERAGE INDIA

Breaking

Thursday, February 6

गुजरात: 3 साल की लड़की से दुष्कर्म करने वाले को फांसी की सजा


सूरत (रविन्द्र भदौरिया), कवरेज इण्डिया। 
एक तरफ दिल्ली का निर्भया रेप केस तो दुसरी तरफ गुजरात के सुरत का रेप केस काफी दिनों से सुर्खियों में रहा है. लेकिन अभी तक पिडीताओं को न्याय नही मिल पाया जिससे अब सुरत की तीन साल की बच्ची से दुष्कर्म के आरोपी अनिल यादव को 29 फरवरी को अहमदाबाद के साबरमती जेल में फांसी दी जाएगी। जिसकी मरम्मत की तैयारी अमदाबाद साबरमती जेल में शुरु कर दी गई है। उच्च न्यायालय ने सत्र न्यायालय द्वारा आरोपी की मौत की सजा को बरकरार रखा है। इसके अलावा, एक डेथ वारंट भी जारी किया गया था और 29 फरवरी को निष्पादित करने का आदेश दिया गया था। डेथ वारंट घोषित होने के बाद अहमदाबाद में साबरमती जेल में फांसी की तैयारी शुरू हो गई है।

आपको बता दे कि गुजरात के राजकोट में आखिरी बार 1989 में फांसी दी गई थी। जिससे अब 56 साल बाद साबरमती सेंट्रल जेल में फांसी दी जाएगी। गुजरात के साबरमती सेन्ट्रल जेल में वर्षों से जल्लाद नहीं है। जिसके कारण जल्लाद को फांसी के लिए बिहार या यरवडा जेल से बुलाया जाएगा। अदालत ने 29 फरवरी को डेथ वारंट जारी करने के बाद अहमदाबाद के साबरमती जेल में अभियुक्तों को फांसी देने की तैयारी शुरू करने को हरी झंडी दी है। कई सालों के बाद फिर से साबरमती जेल में किसी आरोपी को फांसी दी जाएगी। फांसी की सजा और रंग का काम शुरु कर दिया गया है।

दिल्ली में निर्भया रेप केस के आरोपियों को फांसी देने के लिए डेथ वारंट की घोषणा की गई है। लेकिन कानूनी जटिलताओं के कारण, सभी अभियुक्तों के निष्पादन पर तारीख-पर-तारीख की स्थिति बन रही है। पूरे देश को इंतजार है कि निर्भया कांड के दोषियों को आखिर कब फांसी होगी। इस बीच, सूरत में तीन साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म और उसकी हत्या के मामले में सेशन कोर्ट ने अनिल यादव की मौत की सजा को बरकरार रखा है।

Our Video

MAIN MENU