स्मृति ईरानी और राहुल गांधी के कम्बलों में नहीं रही गर्माहट - COVERAGE INDIA

Breaking

Tuesday, January 14

स्मृति ईरानी और राहुल गांधी के कम्बलों में नहीं रही गर्माहट


कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क अमेठी। 
अमेठी। अमेठी में इस वक्त दो बड़े नेताओं की छत्रछाया बनी हुई है, दोनों अपने आप में बड़ा नाम हैं, बड़ा नाम होने के साथ-साथ अमेठी सीट से सांसद भी रह चुके हैं। इसके बावजूद अमेठी संसदीय क्षेत्र उपेक्षा का शिकार है। दोनों नेताओं ने अमेठी से सिर्फ और सिर्फ बड़े-बड़े वायदे किए लेकिन जब धरातल पर काम करने की बात आई तो स्थिति जस की तस नजर आती है।

अभी हाल ही में स्मृति ईरानी जोकि अमेठी कि मौजूदा सांसद हैं, ने गरीबों में 10000 कंबल बांटे थे, तो पूर्व सांसद राहुल गांधी द्वारा भी ढाई हजार कंबल बांटे गए थे। हैरानी की बात यह है की 12500 कंबल बंटने के बाद भी अमेठी के कमरौली थाना क्षेत्र के कठौरा में ठंड के कारण एक अर्धविक्षिप्त वृद्ध की मौत हो गई, जिसकी पुष्टि प्रशासन ने खुद की है। अब सवाल यह उठता है की क्या स्मृति ईरानी व राहुल गांधी के कंबलों में गर्मी नहीं रही, या फिर अमेठी के लोगों तक मौजूदा सांसद स्मृति ईरानी की पहुंच ही नहीं हो पा रही है।

स्थानीय लोगों की मानें तो यह तो मौत का एक आंकड़ा था जिसे प्रशासन द्वारा बताया गया लेकिन ऐसे कई बुजुर्ग, गरीब, असहाय इस भीषण ठंड में अपना दम तोड़ रहे होंगे इसकी कोई खबर नहीं है। कुल मिलाकर यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी की कांग्रेस के राहुल गांधी हो या फिर बीजेपी की स्मृति ईरानी सभी ने अमेठी की जनता को सिर्फ और सिर्फ वोट के लिए ही इस्तेमाल किया है। 

Our Video

MAIN MENU