जिले में सोने की तस्करी जोरों पर प्रशासन की आंखों में धूल झोंक कर की जा रही तस्करी - COVERAGE INDIA

Breaking

Sunday, November 17

जिले में सोने की तस्करी जोरों पर प्रशासन की आंखों में धूल झोंक कर की जा रही तस्करी


रिपोर्ट सानू सिंह चौहान शाहजहांपुर। 
शाहजहांपुर। शाहजहांपुर जिला नंबर दो के कामों के लिए हर जगह प्रसिद्ध है चाहे वो सौंफ जीरा का मामला हो या काली मिर्च का हो, या फिर स्मेक चरस कोकीन, अफीम का हो हर मामले में अव्वल रहा है उसमें भी जिले की तहसील जलालाबाद सबसे अग्रणी स्थान पर है अब इसमें एक और नाम जुड़ गया है जो कि सोने की तस्करी से जुड़ा हुआ है।

सूत्रों के मुताबिक लखनऊ से सोने की खरीद फरौक्त की जाती है उसके बाद यहां लाकर भोले भाले लोगों को लालच दिया जाता है कि 20000 का सोना लेने पर आपको 1200 रुपये प्रति माह वापस दिया जायेगा।उस पर भी नकली सोने का माल दिया जाता है अभी लगभग एक माह पहले जिले की पुलिस ने तस्कर की गाड़ी को रोका था लेकिन मुखबिर से संपर्क न हो पाने के कारण अधूरी जानकारी के कारण गाड़ी को छोड़ दिया था। सही सूचना न मिल पाने के कारण जब गाड़ी को छोड़ दिया तो उक्त तस्करों ने जलालाबाद पुलिस पर ही इल्जाम लगा दिया कि एक इज्जतदार व्यक्ति को पुलिस सरेराह रोककर परेशान करती है।

अरे साहब वो पुलिस की मेहरबानी समझो कि मुखबिर से संपर्क टूट गया नही पता चल जाता कि इज्जतक्या होती है, फिलहाल में जलालाबाद कोतवाल रवि कुमार अपनी पुलिस टीम के साथ सक्रिय हैं और उनका कहना है जल्द ही इसका भंडाफोड़ करेंगे तस्कर कोई भी हो पुलिस नही बच पायेगा।

जलालाबाद के अन्दर यह कार्य बहुत ही जोरों से फल फूल रहा है तस्करों ने अपना माल बिकवाने के लिए जिले के अन्दर एक टीम तैयार की है जो कि भोले भाले लोगों को भ्रमित कर उनको अपने जाल में फंसाते है।
जिले के अन्दर इतना बड़ा कारोबार चल रहा है और प्रशासन को इसकी भनक तक नही है, और भनक भी कैसे हो जब पहली बार पुलिस ने गाड़ी पर हाथ डाला था शायद उसके बाद सब मैनेज कर लिया गया इसी बजह से यह धंधा अपने पूरे शबाब पर है या यूं कहा जाए कि प्रशासन की मदद से ही जिले के अन्दर सोने की तस्करी कराई जा रही है कुछ लोगों का यहां तक कहना है कि जिसका माल बाजार में बेंचा जा रहा है वो बहुत ही पावरफुल व्यक्ति है जिसके लिए दो चार करोड़ की कोई वैल्यू नही है पकड़ भी जायेगा तो पैसा अच्छे अच्छों की बोलती बंद कर देता है शायद इसी तर्ज पर धंधा चल रहा हो कि जब पकड़ जाएंगे तब देखा जायेगा।

कुछ लोगों का यह भी मानना है कि इन लोगों का व्यापार पूरे प्रदेश से लेकर अन्य प्रदेशों तक फैला है लेकिन अभी तक कहीं भी पकड़े नही गये हैं। यह सोना कहाँ से आता है कौन बेंचता है क्या उसके पास इसका लाइसेंस है या नही कौन कौन लोग इसकी ठगी का शिकार हो चुके हैं प्रशासन को अभी ऐसी कोई सूचना नही है।

Our Video

MAIN MENU