अमेरिका में नौकरी का देखा था सपना, हाथ-पैर बांधकर भेजे गए 145 भारतीय - COVERAGE INDIA

Breaking

Thursday, November 21

अमेरिका में नौकरी का देखा था सपना, हाथ-पैर बांधकर भेजे गए 145 भारतीय


कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क। 
नई दिल्ली. अमेरिका जाकर नौकरी करना हर भारतीय का सपना होता है. अपने इस सपने को पूरा करने के लिए कई बार युवा एजेंटों के झांसे में आ जाते हैं. कुछ ऐसा ही नजारा बुधवार को दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पर देखने को मिला. 145 भारतीयों को अमेरिका से भारत भेजा गया था. इन युवाओं के हाथ और पैर बांधे जाने से फूल चुके थे और उनके चेहरे पर डर और मायूसी साफ देखी जा सकती थी.

इन सभी 145 भारतीयों ने अपने सपने को पूरा करने के लिए एजेंटों को 25-25 लाख रुपये दिए थे. इन सभी लोगों को अवैध रूप से अमेरिका में घुसने के आरोप में वहां के इमिग्रेशन अधिकारियों ने पकड़ लिया था और डिटेंशन सेंटर में में कैद कर लिया था. एयरपोर्ट पर जब इन सभी भारतीयों को उतारा गया तो वे ठीक से खड़े भी नहीं हो पा रहे थे. अमेरिका से जब उन्हें भारत भेजा गया तब उनके हाथ-पैर बंधे हुए थे. प्लेन से उतरने से ठीक पहले ही उनके हाथ-पैर खोले गए थे.

दिल्ली एयरपोर्ट में उतरे 145 भारतीयों में तीन महिलाएं भी थीं. इन भारतीयों के साथ 25 बांग्लादेशियों को भी अमेरिका से डिपोर्ट किया गया था. इन बांग्लादेशियों के कारण चार्टर्ड प्लेन को कुछ देर के लिए ढाका में भी रोका गया था. करीब 24 घंटे लंबे सफर की वजह से उनके चेहरे पर थकान साफ देखी जा सकती थीं. अमेरिका से भेजे गए भारतीयों ने बताया कि उन्हें डिटेंशन कैंप में ठीक से खाने-पीने के लिए भी नहीं दिया जाता था. यातनाओं के कारण वह बुरी तरह से टूट चुके थे.

Our Video

MAIN MENU