क्यों मिला प्रदेश के ढाई लाख से अधिक व्यापारियों को नोटिस, पढ़ें विस्तार से - COVERAGE INDIA

Breaking

Wednesday, October 16

क्यों मिला प्रदेश के ढाई लाख से अधिक व्यापारियों को नोटिस, पढ़ें विस्तार से


कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क। 
लखनऊ। वाणिज्य कर विभाग ने बकाए भुगतान के लिए प्रदेश के 260530 व्यापारियों के खिलाफ नोटिस जारी करते हुए अधिकारियों को वसूली अभियान चलाने के निर्देश दिये है। यूपी में टैक्स जमा न करने वालों में पूर्वांचल के व्यापारी सर्वाधिक हैं। वाणिज्य कर विभाग ने ऐसे व्यापारियों के खिलाफ वसूली प्रमाण पत्र (आरसी) जारी किया है। आयुक्त वाणिज्य कर अमृता सोनी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया है कि ऐसे व्यापारियों से वसूली का अभियान चलाया जाए। टैक्स जमा न करने वाले व्यापारियों के खिलाफ विधिक व्यवस्था के तहत कार्रवाई भी जाए।

विभाग से मिली जानकारी के अनुसार वाराणसी जोन प्रथम 18899 व वाराणसी जोन द्वितीय 21393 बकाएदार व्यापारियों के खिलाफ आरसी जारी की गई है। गोरखपुर 31283, प्रयागराज 23478 व्यापारियों के खिलाफ वसूली की कार्रवाई होगी। आगरा 9235, अलीगढ़ 26616, बरेली 12763, इटावा 5255, गाजियाबाद प्रथम 21539, गाजियाबाद द्वितीय 17264, झांसी 8498, कानपुर प्रथम 10805 व कानपुर द्वितीय 13247 व्यापारियों के खिलाफ वसूली की कार्रवाई होगी। लखनऊ प्रथम 22746 व लखनऊ द्वितीय 18071 मेरठ 17758, मुरादाबाद 18236, सहारनपुर 16676 व्यापारियों के खिलाफ वसूली प्रमाण पत्र जारी किया गया है।आयुक्त वाणिज्य कर ने जीएसटी और वैट वसूली की समीक्षा में लक्ष्य से कम वसूली पर नाराजी जताई है। उन्होंने कहा है कि लक्ष्य के मुताबिक जोनवार टैक्स की वसूली नहीं की जा रही है। सितंबर 2019 तक लक्ष्य के आधार पर वसूली नहीं हो पाई है। इसलिए बकाएदार व्यापारियों से वसूली के लिए अभियान चलाया जाए। खासकर जिनके खिलाफ आरसी जारी हो चुकी है उनसे वसूली पर विशेष ध्यान दिया जाए।

Our Video

MAIN MENU