एक्शन और कॉमेडी की डोज है भोजपुरी फिल्म काशी विश्वनाथ, काजल राघवानी के प्यार में रितेश पांडे बन जाते हैं पुलिस - COVERAGE INDIA

Breaking

Wednesday, October 9

एक्शन और कॉमेडी की डोज है भोजपुरी फिल्म काशी विश्वनाथ, काजल राघवानी के प्यार में रितेश पांडे बन जाते हैं पुलिस


कवरेज इण्डिया भोजपुरी डेस्क। 
भोजपुरी फिल्‍मों को पसंद करने वालों के लिए खबर है कि जल्‍द ही दिल्‍ली और यूपी  में भोजपुरी सेंशेसन काजल राघवानी और सुपर स्‍टार रितेश पांडेय का जलवा चलने वाला है। क्‍योंकि दर्शकों की पहली पसंद बनकर उभरी उनकी फिल्‍म ‘काशी विश्‍वनाथ’ 11 अक्‍टूबर से यूपी और दिल्‍ली के सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है। इस फिल्‍म को पहले बिहार, झारखंड और मुंबई में रिलीज किया जा चुका है, जहां दर्शकों ने फिल्‍म ‘काशी विश्‍वनाथ’ को न सिर्फ खूब पसंद किया, बल्कि करोबार के मामले में भी इस फिल्‍म ने कई कीर्तिमान स्‍थापित किये।

इस बारे में फिल्‍म के निर्माता एस एस रेड्डी और निर्देशक सुब्‍बा राव गोसांग ने बताया कि फिल्‍म ‘काशी विश्‍वनाथ’ की स्‍टोरी लाइन बेहद कारगर हैं। इसमें सहज रूप से दर्शकों के साथ जुड़ने की क्षमता है, क्योंकि कहानी में  वास्तविक, भावनात्मक और रोचक है। हालांकि हमारी कोशिश रही है कि हम ऐसा कंटेंट तैयार करें, जो  हमेशा हमारे लिए कामयाबी लाये और मैंने इस बात को महसूस किया है कि दर्शक कहानी से जुड़ना पसंद करते हैं। इसलिए हमने उनकी पसंद के हिसाब से इस कहानी को चुना और बिहार, झारखंड और मुंबई के दर्शक जुड़ते चले गए। अब दिल्‍ली और यूपी की बारी है। हमें पूरी उम्‍मीद है फिल्‍म दर्शकों को पसंद आयेगी।

आपको बता दें कि गंगोत्री स्‍टूडियो प्रा. लि. प्रस्‍तुत भोजपुरी फिल्‍म ‘काशी विश्‍वनाथ’ बेहद पारिवारिक, सामाजिक और कंप्‍लीट एक्‍शन कमर्सियल है। फिल्‍म के सभी गाने कर्णप्रिय हैं और डायलॉग सुग्राह्य हैं। फिल्‍म के पीआरओ संजय भूषण पटियाला हैं और म्‍यूजिक डायरेक्‍टर ओम झा हैं। फिल्‍म में गानों के लिरिक्‍स श्‍याम देहाती, अ‍रविंद तिवारी और यादव राज के हैं। बैकग्राउंड म्‍यूजिक जेबू का है। आर्ट शेरा, एक्‍शन सी एच रामकृष्‍णा, कोरियोग्राफी दिलीप और राकेश, एडिटर संतोष हवड़े और डीओपी प्रकाश का है।

कहानी-
फिल्म के हीरो रितेश पाण्डेय इस फिल्म में एक मनचले लड़के की भूमिका में हैं। जो गलत संगत की वजह से बुरे काम करने लगता है। जिसके लिए उसे परिवार से काफी उलाहने मिलती हैं और उसको गांव वाले कभी पसंद नहीं करते। लेकिन वह एक लड़की से टकराता है और उसकी जिंदगी बदल जाती है। वह उसे प्यार करने लगता है और उसे पाने के लिए वह खूब सारा पैसा कमाना चाहता है। उसे पुलिस की नौकरी कमाऊ लगती है इसलिए वह पुलिस डिपार्टमेंट ज्वाइन कर लेता है लेकिन वहां ड्यूटी पर हीरो को पुलिस की असल जिम्मेदारियों का एहसास होता है और वह अन्याय को ख़त्म करने की राह पर चल निकलता है. वह कैसे समाज के दुश्मनों का नाश करता है और कैसे अपने प्यार को पाता है यह दर्शकों को सिनेमाघर में देखने को मिलेगा।

Our Video

MAIN MENU