गणेश चतुर्थी: ओडिशा में प्लास्टिक का इस्तेमाल रोकने के लिए अनूठी पहल - COVERAGE INDIA

Breaking

Monday, September 2

गणेश चतुर्थी: ओडिशा में प्लास्टिक का इस्तेमाल रोकने के लिए अनूठी पहल


कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क। 
भुवनेश्वर । अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विख्यात ओडिशा के रेत कलाकार सुदर्शन पटनायक ने जगन्‍नाथ पुरी के तट पर भगवान गणेश की रेत से प्रतिमा बनाई और उसके आसपास प्लास्टिक की 1000 बोतलें रखीं। ऐसा करने के पीछे उनका मकसद एक बार के इस्तेमाल के बाद फेंके गए प्लास्टिक से पर्यावरण को बचाने का संदेश देना है।

गणेश चतुर्थी के अवसर पर बनाई गई रेत की प्रतिमा पर ‘से नो टु सिंगल यूज प्लास्टिक’ (एक बार इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक को ना कहें) और सेव आर इन्‍वाइरनमेंट (हमारे पर्यावरण को बचाएं) लिखा गया है। पटनायक ने बताया कि ‘सिंगल यूज प्लास्टिक’ के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अभियान से प्रभावित हो कर उन्होंने गणपति के लिए यह थीम चुनी।

पटनायक ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन और साप्‍ताहिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में एक बार इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक के उपयोग को बंद करने का आह्वान किया था। पटनायक ने कहा, गणेश चतुर्थी के अवसर पर मैं लोगों से एक बार इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक का उपयोग न करने की अपील करता हूं ताकि हम अपने पर्यावरण की रक्षा कर सकें।

उन्होंने बताया कि 10 फुट ऊंची भगवान गणेश की प्रतिमा पांच टन रेत से बनाई गई है और उसके आसपास प्लास्टिक की 1000 बोतलें लगाई गई हैं। पटनायक अक्‍सर ज्‍वलंत सामाजिक मुद्दों पर अक्‍सर ऐसे कलाकृतियां बनाकर अपना संदेश देते रहते हैं।

Our Video

MAIN MENU