कवरेज इण्डिया Exclusive: सेना के जवान ने 53 मिनट शंख बजाकर बनाया रिकार्ड - COVERAGE INDIA

Breaking

Saturday, August 31

कवरेज इण्डिया Exclusive: सेना के जवान ने 53 मिनट शंख बजाकर बनाया रिकार्ड

कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क। 
नई दिल्ली। भारतीय सेना के जवान शंभू कुमार के नाम एक बार में 53 मिनट लगातार शंख बजाने का विश्व रिकार्ड बनाने की उपलब्धि हासिल है। इस उपलब्धि से शंभू कुमार ने हिंदुस्तान और भारतीय सेना के नाम को रोशन किया है। शंभू कुमार भारतीय सेना में लगभग 15 साल से तैनात हैं और देश की सेवा कर रहे हैं। बिहार के रहने वाले शंभू कुमार भारतीय सेना के 16 राजपूत में तैनात हैं। 16 राजपूत सेना की लड़ाकू ईकाई है जो दुश्मन के दांत खट्टा करने के लिए जानी जाती है।
 
सेना के लड़ाकू दस्ते के सदस्य शंभू कुमार को शंख बजाने में महारत हासिल हो चुकी है। शंभू कुमार ने जीएनएस से बात करते हुए बताया कि इसके लिए रोजाना वे शंख बजाने के लिए कई घंटे का अभ्यास करते हैं। हम बता दें कि शंख बजाना कोई आसान काम नहीं होता है। शंख बजाने के लिए सांसों को रोके रखना अनिवार्य होता है जो सबके बस की बात नहीं होती है। क्योंकि शंख में जब सांस यानि हवा छोड़ी जाती है तो शरीर की पूरी ताकत लगती है जो लंबे समय तक अभ्यास करने के बाद ही संभव हो पाती है। यहां उल्लेख करना अनिवार्य है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब 2019 में दोबारा देश के प्रधानमंत्री चुने गए तो वे अपनी संसदीय क्षेत्र वाराणसी गए जहां गंगा आरती के दौरान एक पंड़ित ने लगातार लगभग तीन मिनट शंख बजाकर सबको आश्चर्य चकित कर दिया था। बाद में कार्यक्रम की समाप्ति के बाद प्रधानमंत्री ने उस पुजारी के पास जाकर इसके लिए धन्यवाद दिया था।
जबकि सेना के नायक शंभू कुमार के नाम बिना रूके 53 मिनट का लंबा शंखनाद करने का विश्व रिकार्ड है। शंभू कुमार ने पहला रिकॉर्ड लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में 33 मिनट लगातार शंख बजाने का हासिल किया है। इससे पहले लिम्का बुक में 10 मिनट का रिकॉर्ड दक्षिण भारत के एक शख्स ने बनाया था। उसके बाद उन्होंने भारत वर्ल्ड रिकॉर्ड 53 मिनट का बनाया। शंख बजाने के लिए उनका नाम इंडिया स्टार बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी दर्ज है।
उनकी इस प्रतिभा से प्रभावित होकर कुछ समय पहले 16 राजपूत के कमांडिंग अधिकारी ने सैनिक सम्मेलन में शंभू कुमार को 11000 की राशि से पुरस्कृत किया था। उनकी इसी प्रतिभा के लिए सेना की सेंट्रल कमांड लखनऊ द्वारा प्रशंसा पत्र प्रदान किया गया। शंभू कुमार गिनीज बुकऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए तैयारी कर रहे हैं जिसके लिए उन्होंने अप्लाई किया है। इसके लिए एक वीडियो बनाकर गिनीज बुक को भेजना है। जिसकी तैयारी में जुटे हैं।
यहां यह भी उल्लेखनीय है कि हिंदू धर्म में शंख का बहुत पवित्र महत्व है। शुभ कार्यों और पूजा त्यौहारों, मंदिरों में शंख बजाया जाता है। मान्यता यहां तक है कि शंख की ध्वनि जहां तक जाती है वहां तक नकारात्मक ऊर्जा का नाश हो जाता है। इसके अलावा वैज्ञानिक दृष्टि से भी शंख का बड़ा महत्व बताया जाता है। शंख बजाने से अनेक बीमारियां भी दूर होती हैं जैसे हकलापन, दम्मा से सम्बंधित रोग, गले का रोग, उदर विकार जैसे अनेक प्रकार के रोग शंख बजाने से दूर होते हैं। शंभू कुमार कहते हैं कि शंख की ध्वनि से हानिकारक जीवाणु नष्ट हो जाते हैं एवं शंख ध्वनि से वातावरण शुद्ध हो जाता है। 

Our Video

MAIN MENU