जांबिया देश में धूम धाम से मनाया गया नृत्यांजली दिवस, केसरिया बालम आवो रेे आवो मारे देश गीत पर झूमे दर्शक - COVERAGE INDIA

Breaking

Sunday, August 18

जांबिया देश में धूम धाम से मनाया गया नृत्यांजली दिवस, केसरिया बालम आवो रेे आवो मारे देश गीत पर झूमे दर्शक


रिपोर्ट जय प्रकाश तिवारी, कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क।
लुसाका/जांबिया। समाज में बेटे एवं बेटियों के बीच मतभेद नहीं किया जाना चाहिए बेटे और बेटी एक ही सिक्के के दो पहलू हैं उक्त बातें एक्टिंग हाई कमीशन इंडिया श्री विजय वर्मा ने दक्षिण अफ्रीका के जांबिया देश में लुसाका शहर के हिन्दू हाल में आयोजित नृत्यांजली दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित सभी भारतीय नागरिकों  को संबोधित करते हुए कहा उन्होंने कहा कि बच्चों में प्रतिभा की कमी नहीं होती उनमें उन्हें निखारने की जरूरत होती है अध्यापक बच्चों को उचित मार्गदर्शन दें तो बच्चों में सफलता पाने की होड़ रहती है।


अध्यापकों को बच्चों से प्यार करना चाहिए ना कि डराना चाहिए जिससे बच्चों में कला के प्रति रुचि जगती है। वहीं पर विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित लुसाका जांबिया शाखा इस्कॉन के महराज श्री जे डी शर्मा जी ने कहा कि हम भारतीयों ने हर देश में अपने भारतीय संस्कृति का परचम लहराने की ठानी है और उन्होंने बताया कि भगवान श्री कृष्ण और राम जी का नाम जपने से ही मानव जीवन को सुख और शांति मिलती है और आज यहां पर इस कार्यक्रम में शामिल होकर मुझे बहुत ही प्रसन्नता हुई धन्यवाद देता हूं अपने सभी देश वासियों को।अवसर पर बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया जिसमें भगवान राम की स्तुति पर नृत्य, अर्धनारीश्वर डांस,भक्ति गीत एवं भरत नाट्यम के साथ साथ जांबिया के बच्चो ने भी अपनी प्रस्तुति की और सेमी क्लासिकल डांस सहित आदि का मंचन किया गया। वहीं पर जांबिया देश के महान विभूतियों ने भी हिस्सा लिया और भारतीय संस्कृति की खूब सराहना की ।


यह कार्यक्रम दिवा डांस क्लासेज लुसाका की डारेक्टर सोमा चक्रवर्ती द्वारा आयोजित किया गया था। वहीं पर भारतीय महिलाओं ने राजस्थानी गीत " केसरिया बालम आवो रेे आओ मारे देश" पर डांस की प्रस्तुति कर सभी दर्शकों का मनमोह लिया और लोगों को ताली बजाने पर मजबूर कर दिया दर्शकों ने खूब मनोरंजन किया।  जिस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए श्रद्धा दूत, अनामिका शर्मा, पूजा तिवारी,सरिता रेड्डी ने दिलो जान से बच्चो के साथ मिलाकर तैयारियों में अपनी पूरी टीम के साथ जुटी रही।  इस कार्यक्रम की विशेषता यह थी कि सभी नृत्य भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता पर आधारित दिवा डांस क्लासेज के छोटे छोटे नौनिहालों द्वारा किया गया । इन कार्यक्रमों को देखने हेतु आये दर्शकों ने ताली बजाकर बच्चो का उत्साह वर्धन किया और  सुंदर सुंदर नृत्य देख कर लोग मंत्रमुग्ध हो गए ।


जिसमें कार्यक्रम के अध्यक्ष केसव प्रसाद ने बच्चों के नृत्य को देखकर अवलोकन किया। जिसमें बच्चों को प्रशस्ति पत्र एवं गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के अंत में विशाल भंडारे का आयोजन भी किया गया था जिसमें लगभग सात सौ से अधिक लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। इस अवसर पर श्रीकांत शर्मा, अजय तिवारी, संजीव,दिवाकर,नचिकेत लिंबाचिया,हरीश दूत, मनीष, चेतन सिंह आदि  भारत के कोने कोने से आए सभी लोग उपस्थित रहे। वहीं पर कार्यक्रम का संचालन रवि कांत सिंह सहयोगी आर्यन एवं श्रेया ने किया । वहीं पर कार्यक्रम के व्यवस्थापक  ममता शर्मा पत्नी शैलेन्द्र शर्मा ने आए हुए सभी अतिथियों के प्रति आभार प्रकट कर धन्यवाद ज्ञापित किया।


Our Video

MAIN MENU