गोरखपुर में 1200 करोड़ की लागत से होगा बायो फ्यूल प्लांट निर्माण: योगी - COVERAGE INDIA

Breaking

Monday, August 19

गोरखपुर में 1200 करोड़ की लागत से होगा बायो फ्यूल प्लांट निर्माण: योगी


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि गोरखपुर में 1200 करोड़ रुपये की लागत से बायो फ्यूल प्लांट का निर्माण होगा। इससे वहां के औद्योगिक विकास तो होगा ही युवाओं को रोजगार भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक के इस्तेमाल को पूरी तरह बंद करना होगा। साथ ही इसके विरुद्ध बड़े पैमाने पर अभियान चलाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने यह बात रविवार को गोरखपुर में हुए समारोह में कही। उन्होंने कहा कि वर्ष 1990 में बंद हो चुके फर्टिलाइजर कारखाना को पुनः जीवित किया गया है। यह अगले साल चालू हो जाएगा। उन्होंने वहां सूर्यकुंड मंदिर एवं गोरखपुर के विकास से जुड़ी 259.84 लाख की योजनाओं का शिलान्यास एवं 5270.03 लाख की परियोजनाओं का लोकार्पण भी किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि 20-22 वर्षों पहले सूर्यकुंड धाम का जल सूख गया था, तब उन्होंने अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ महाराज की सांसद निधि से सूर्यकुंड मंदिर के पुनरोद्धार के लिए पैसा दिलवाया था।

सरकार द्वारा दिए गए धन का पूर्ण सदुपयोग हो ताकि सूर्यकुंड धाम को पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जा सके।सूर्यकुंड धाम में रंगमंच कलाकारों को दें स्थानउन्होंने कहा कि सूर्यकुंड धाम दशकों से पुनरोद्धार का इंतजार कर रहा था। मुख्यमंत्री ने पर्यटन विभाग को निर्देश दिए कि सूर्यकुंड धाम में सार्वजनिक कार्यक्रम के लिए स्थान उपलब्ध कराया जाए। इससे रंगमंच कलाकारों को और लोगों को कार्यक्रम आदि करने में असुविधा न हो। गोरखपुर मेडिकल कालेज में एम्स जैसी सुविधाएंमुख्यमंत्री ने कहा कि 10 साल पहले बन्द होने की कगार पर पहुंच चुके बीआरडी मेडिकल कॉलेज में आज एम्स जैसी सुविधाएं दी जा रही हैं।

आज गोरखपुर में इंसेफ्लाइटिस से लड़ने के लिए पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध हैं। इसके साथ ही प्रदेश के 38 जिलों को भी गोरखपुर की तरह मेडिकल सुविधाएं दी जा रही हैं। एक्सप्रेस वे के किनारे बनेगा औद्योगिक गरियारा गोरखपुर से कई बड़े शहरों के लिए वायु सेवा शुरू हो चुकी है। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के दोनों तरफ औद्योगिक गलियारा बनाया जाएगा ताकि पूर्वांचल के लोगों को रोजगार के लिए कहीं बाहर भटकना न पड़े। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सभी को प्रधानमंत्री मोदी की स्वच्छ भारत मिशन की मुहिम से जुड़ना होगा। इसके साथ ही प्लास्टिक का इस्तेमाल पूरी तरह बंद करना होगा। प्रदेश सरकार द्वारा प्लास्टिक के विरुद्ध व्यापक पैमाने पर अभियान चलाया जा रहा है ताकि पर्यावरण को स्वच्छ रखा जा सके।

Our Video

MAIN MENU