लोकसभा चुनाव: परिणाम रात में 3 बजे आएंगे - COVERAGE INDIA

Breaking

Wednesday, May 22

लोकसभा चुनाव: परिणाम रात में 3 बजे आएंगे


कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क। 
लखनऊ। इस बार पूरे नतीजे आने में अगले दिन की सुबह हो जाएगी। वीवीपैट की पर्चियों का ईवीएम के वोटों से मिलान, सर्विस वोटर के बैलेट की गिनती में इस बार अतिरिक्त समय लगना तय है। अधिकारियों ने आकलन किया है कि यदि सबकुछ समय से हुआ तो भी पूरे नतीजे आने और जीतने वाले प्रत्याशियों को प्रमाणपत्र देने में सुबह के तीन बज जाएंगे। हालांकि अनुमान यह लगाया जा रहा है कि तस्वीर दो या तीन बजे तक साफ हो जाएगी।

नई व्यवस्था में कई औपचारिकताएं जोड़ी गई हैं। उदाहरण के लिए ईवीएम से मतगणना पूरी होने के बाद आखिरी चक्र में पांच बूथों से रैंडम आधार पर वीवीपैट चुनी जाएंगी। वीवीपैट से निकली पर्चियों के 25-25 बंडल बनाए जाएंगे। इसके पूर्व प्रत्याशियों के नाम के आधार पर इनको बांटा जाएगा। इसके बाद इनके वोटों की गिनती होगी। एक बूथ की गिनती में करीब एक से डेढ़ घंटे लगेंगे। मतगणना में अक्सर इक्का-दुक्का ईवीएम का डिस्प्ले खराब हो जाता है। ऐसे में ऑब्जर्वर या आरओ आदेश पारित करेंगे। उसके बाद वीवीपैट से उस बूथ के वोटों का मिलान होगा। इलेक्ट्रोनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट्स यानी ईटीपीबीएस वोटों की गिनती सामान्य पोस्टल बैलेट के बाद होगी। ये सेना के अफसरों और सैनिकों के वोट होंगे। इसमें भी समय लगेगा।मतगणना केलिए प्रत्येक मेज पर एक माइक्रोऑब्जर्वर तैनात किए गए हैं। 

उस मेज पर मतगणना के लिए पूरी तरह उनकी जिम्मेदारी होगी। उनको गणना पर्ची की ही तरह एक और पर्ची प्रिंट कर के दी जाएगी। इस पर वह कंट्रोल यूनिट ईवीएम की संख्या, चक्र संख्या, मेज संख्या, मतदान केन्द्र और बूथ संख्या, उम्मीदवारों को मिले मतों की संख्या लिखेंगे। मतगणना के दौरान कर्मचारी इसकी भी जांच करेंगे कि जो ईवीएम की कंट्रोल यूनिट उनको मिली है, वह उसी बूथ की है या नहीं। मशीन की जानकारी कर्मचारियों को वहां मौजूद प्रत्याशी के एजेंटों को भी देनी होगी। इसके लिए उनको ‘एड्रेस टैग का मिलान कैसे किया जाएगा इसका प्रशिक्षण दिया गया है।चुनाव ड्यूटी में लगे कर्मचारियों को रमाबाई रैली स्थल पर सुबह छह बजे पहुंचना होगा। कर्मचारियों के पहुंचने के बाद रैंडेमाइजेशन होगा। यानी कमप्यूटर से उनकी ड्यूटी तय होगी। 

किस कर्मचारी को कौन सी मेज मिली है यह सुबह ही पता लगेगा।रमाबाई रैली स्थल स्थित मतगणना परिसर के स्ट्रांग कक्षों में बंद ईवीएम की कंट्रोल यूनिट गुरुवार को सुबह पांच बजे बाहर निकाली जाएंगी। प्रत्येक स्ट्रांग रूम की कलक्ट्रेट कोषागार के डबल लॉक में सुरक्षित रखी चाभी को विधानसभावार नामित ईआरओ अपने साथ लेकर रमाबाई रैली स्थल पर बने मतगणना स्थल पर सुबह पांच बजे पहुंचेंगे। स्ट्रांग कक्षों की चाभी सुबह चार बजे कोषागार में मौजूद जिला निर्वाचन अधिकारी, आयोग के नामित प्रेक्षकों के समक्ष सीटीओ संबंधित ईआरओ को सौंपेंगे। मतगणना स्थल पर स्ट्रांग कक्षों में लगा ताला सुबह पांच बजे प्रेक्षकों व प्रत्याशी एजेंटों की मौजूदगी में ही खोला जाएगा। इसके बाद सुबह छह बजे से मॉक काउंटिंग प्रशिक्षण और आठ बजे से मतों की गणना शुरू होगी। लोकसभा की लखनऊ व मोहनलालगंज संसदीय सीटों की विधान सभावार होने वाली मतगणना 28 से 35 चक्र की गणना के बाद पूरी होगी।

Our Video

MAIN MENU