दयालपुर रेलवे स्टेशन को बहाल करने की मांग जोरों पर - COVERAGE INDIA

Breaking

Monday, April 22

दयालपुर रेलवे स्टेशन को बहाल करने की मांग जोरों पर


कुलदीप शुक्ल, कवरेज इण्डिया।
प्रयागराज दयालपुर के स्टेशन की बहाली ना होने से क्षुब्ध इलाके के लोगों ने रविवार को दूसरी बार स्टेशन के निकट कई गांव के हजारोंं लोगों ने महापंचायत में शामिल हुए महापंचायत के दौरान ग्रामीणों ने स्टेशन की बहाली ना किए जाने से आगामी लोकसभा के चुनाव का बहिष्कार करने के लिए सामूहिक रूप से लिया शपथ 1952 में रेल मंत्री लाल बहादुर शास्त्री द्वारा दयालपुर स्टेशन की स्थापना किया गया था वर्ष 2005 में रेलवे ने उक्त स्टेशन को बंद करते हुए अपने कर्मचारियों को हटा लिया स्टेशन की बहाली ना होने से क्षेत्र वासियों को कहीं भी आने-जाने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।


जिससे आक्रोशित ग्रामीणों ने रविवार को पुनः दयालपुर स्टेशन के समीप महापंचायत के दौरान सामाजिक रूप से आगामी चुनाव का बहिष्कार करने के लिए शपथ ग्रहण किया गया जिसके बाद ग्रामीणों ने बंद पड़े स्टेशन पर पहुंच कर प्रदर्शन करते हुए स्टेशन की बहाली की मांग की ग्रामीणों का आरोप है कि हम सब रेलवे विभाग के डीआरएम लखनऊ डीएम दिल्ली को पत्र भेजने के साथ ही उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य पूर्व विधायक सत्यवीर मुन्ना व विधायक जमुना प्रसाद सरोज समेत स्थानीय अधिकारियों से स्टेशन की बहाली के लिए पत्र सौंपकर मांग किया लेकिन किसी से आश्वासन के सिवा कुछ नहीं हासिल हुआ।

ग्रामीणों की माने तो उक्त स्टेशन से  ट्रेनों से यात्रा करने के लिए टिकट मऊआइमा व सिटी स्टेशन से टिकट खरीदकर यात्रा करनी पड़ती है दर्जनों गांव से शहर पहने जाने वाले छात्रों मजदूरों रिक्शा चालकों वकीलों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ता है रविवार को हुई पंचायत के दौरान गांव के जगदीश प्रसाद शुक्ल  राजेंद्र कुमार यादव ज्ञान बहादुर सिंह धर्मेंद्र कुमार यादव राम बहादुर विपिन कुमार राधेश्याम राम सजीवन गुलाब सिंह मेवालाल ,सन्तलाल  तेजा पुर ग्राम प्रधान जंग बहादुर मोहम्मद रफीक मोहम्मद हसनैन महेंद्र कुमार सिंह समेत सैकड़ों ग्रामीण मौजूद रहे और चुनाव बहिष्कार का संकल्प लिया। 

Our Video

MAIN MENU