शाहजहांपुर में फिरौती न मिलने पर कर दी पांच बर्षीय बालक की हत्या - COVERAGE INDIA

Breaking

Sunday, April 14

शाहजहांपुर में फिरौती न मिलने पर कर दी पांच बर्षीय बालक की हत्या


--मौसेरा मामा बालक को कल शाम को जूते दिलाने के बहाने अपने साथ ले गया था
--अपहरणकर्ता ने बालक की हत्या कर शव को नाले में फेंका

शाहजहांपुर। आरसी मिशन थाना क्षेत्र में अपहरण कर हत्या का मामला प्रकाश में आया है। फिरौती न मिलने पर अपहरणकर्ता ने बालक की हत्या कर शव को नाले में फेंक दिया। पुलिस ने शव को नाले से बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने अपहरणकर्ता को गिरफ्तार कर लिया है।
थाना आरसी मिशन थाना क्षेत्र के मिश्रीपुर निवासी आरिस उर्फ शानू ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि उसके पांच बर्षीय बालक जुबान घर पर खेल रहा था। तभी उसके रिश्ते का मौसेरा साला शाहनवाज निवासी मोहल्ला तारीन गाड़ीपुरापुरा थाना आरसी मिशन शाम पांच बजे आया और जुबान को जूते दिलाने के नाम पर साथ लेकर चला गया। जब काफी देर हो गई तो घर बालों ने पता लगाया। लेकिन शाहनवाज व जुबान का कही पता नही लगा। रात लगभग 10 बजे अपहरणकर्ता शाहनवाज ने अपने पिता शब्बीर खां के मोबाइल नम्बर पर फोन किया कि जुबान के पिता से जाकर कहो कि 10 लाख रुपये की व्यवस्था कर ले तो उनका बेटा सही सलामत मिल पायेगा।

अपहरणकर्ता के पिता ने जुबान के घर जाकर सारी घटना को बताया। अपहरणकर्ता के पिता शब्बीर ने बताया कि उसके बेटे ने कल रात व सुबह लगभग 6 बजे उसके नम्बर पर फोन करके बताया कि जुबान के पिता से 50 हजार रुपये लेकर उसकी बीबी आफरीजा को पहुंचा दो, और 10 लाख रुपये सदर बाजार थाना क्षेत्र के शान्तिपुरम कॉलोनी गदियाना निवासी हशमत उल्ला के घर रुपये पहुंचाने की बात कही थी। अहम बात यह है कि अपहरणकर्ता के पिता शब्बीर ने अपने बेटे का साथ न देकर मृतक के परिजनों का साथ दिया। एसपी सिटी दिनेश त्रिपाठी ने बताया कि अपहरणकर्ता आरिस व उसकी पत्नी आफरीजा व जमन के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है। तथा जांच पड़ताल करके अन्य संलिप्त लोगों की भी तलाश की जा रही है। तथा अपहरणकर्ता की निशानदेही पर शव को नाले से बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।


50 हजार रुपये लिए घूमते रहे कोई बच्चे को लौटा दो
अपहरणकर्ता ने पहले 50 हजार रुपये की फिरौती की डिमांड रखी थी। मासूम बालक के पिता आरिस ने जैसे तैसे करके 50 हजार रुपये की व्यवस्था करके उसकी पत्नी को देने पहुंचे तब अपहरणकर्ता ने फिर से फोन मिलाकर कहा कि अब उसे 10 लाख रुपये चाहिए। परेशान बालक का पिता पचास हजार रुपये जेब मे डालकर पूरी रात अपहरणकर्ता के घर के चक्कर काटता रहा और बच्चे के छोड़ने की विनती करता रहा लेकिन शाहनवाज का दिल नही पसीजा और उसने अंत मे मासूम बच्चे की हत्या करके बोर में भरकर नाले में फेंक दिया। जब मासूम बच्चे के शव को नाले से बाहर निकाला जा रहा था। तब वहां मौजूद लोगों की जुवां पर सिर्फ अपहरणकर्ता के लिए बद्दुआएं ही निकल रही थी। लोगों की आंखों में आंसू आ गए थे।

Our Video

MAIN MENU