सपा बसपा गठबंधन प्रत्याशी द्वारा उड़ाई जा रही चुनाव आचार संहिता की धज्जियां - COVERAGE INDIA

Breaking

Saturday, April 6

सपा बसपा गठबंधन प्रत्याशी द्वारा उड़ाई जा रही चुनाव आचार संहिता की धज्जियां


सानू सिंह चौहान, कवरेज इण्डिया शाहजहांपुर। 
शाहजहांपुर/ उत्तर प्रदेश में लोकसभा शाहजहांपुर-27 सुरक्षित सीट से सपा-बसपा गठबन्धन उम्मीदवार अमर चन्द्र जौहर को निर्वाचन आयोग का बिल्कुल भी डर नही है और बेखौफ अचार सहिंता की धज्जियां उड़ा रहे है। जिसके फलस्वरूप गठबंधन प्रत्याशी पर पूर्व में भी आचार संहिता उलंघ्घन के कई मामले दर्ज हो चुके है लेकिन इन सबके इतर गठबंधन प्रत्याशी बेखौफ नियमों को ताक पर रखकर चुनाव प्रचार में मशगूल हैं।
मामला सपा-बसपा गठबन्धन के उम्मीदवार अमर चन्द्र जौहर से जुड़ा है। अमर चन्द्र जौहर का थाना आरसी मिशन स्थित मोहल्ला गढ़ी गाढ़ीपुरा में ‘तथागत शिक्षा निकेतन उमा विद्यालय’ है जिसके गठबन्धन उम्मीदवार अमर चन्द्र जौहर प्रबंधक हैं। गठबंधन प्रत्याशी ने अचार सहिंता की धज्जियां उड़ाते हुए शिक्षा के मंदिर तथागत शिक्षा निकेतन को ही अपना चुनाव प्रचार का जरिया यानि कैम्प कार्यालय बना दिया और विद्यालय परिसर से ही अपने चुनाव की पूरी तैयारियों को अंजाम देना शुरू कर दिया। एक तरफ विद्यालय परिसर में छा़त्रों की पढाई चल रही तो दूसरी तरफ चुनावी तैयारियों के साथ-साथ प्रत्याशी समर्थकों की गहमागहमी। गठबंधन उम्मीदवार ने वि़द्यालय परिसर में झंडा, बैनर आदि ही चस्पा कर विद्यालय को ही चुनाव  का मैदान बना दिया।

जबकि चुनाव अचार सहिंता लागू होने के बाद चुनाव आयोग के निर्देशानुसार अपर जिला मजिस्ट्रेट (प्रशासन)  नरेन्द्र सिंह के आदेश दिनांक 10 मार्च 2019 (पत्रांक- 916, क्रमांक- 19 व 56 ) के अनुसार निर्देशित किया गया है कि कोई भी पार्टी, प्रत्याशी या उसका समर्थक किसी भी सार्वजनिक स्थान, विद्यालय आदि का प्रयोग चुनाव प्रचार आदि के रूप में नही कर सकते है लेकिन सपा-बसपा गठबंधन प्रत्याशी को चुनाव आयोग व जिला प्रशासन के आदेशों का कोई खौफ नहीं है और धड़ल्ले से प्रशासन के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। इतना ही नहीं चुनाव आचार संहिता का शत्-प्रतिशत् पालन कराने का दावा करने वाला जिला प्रशासन भी आंखें मूंद कर आचार संहिता की धज्जियां उड़ते हुए देख रहा है। आखिर जिला प्रशासन व शिक्षा विभाग को इस बात की भनक कैसे नही लगी कि जिस विद्यालय में छात्र-छात्राओं के पेपर चल रहे तथा पढाई हो रही उसी स्कूल का प्रयोग चुनाव प्रचार के लिए किया जा रहा है।

Our Video

MAIN MENU