पाकिस्तान पर एक और हमले की तैयारी में मोदी सरकार, 16 से 20 अप्रैल के बीच होगा हमला - COVERAGE INDIA

Breaking

Sunday, April 7

पाकिस्तान पर एक और हमले की तैयारी में मोदी सरकार, 16 से 20 अप्रैल के बीच होगा हमला


कवरेज इण्डिया न्यूज़ डेस्क। 
कराची। भारत की तरफ से की गई एयर स्ट्राइक के खौफ से पाकिस्तान अब भी उबरा नहीं है। भारत ने पाकिस्तान पर अपना डर बना दिया है। पाकिस्तानने अपने बेहद विश्वसनीय खुफिया जानकारी के आधार पर दावा किया है कि भारत इस महीने एक और हमले की तैयारी कर रहा है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने रविवार को यह बात कही। पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों पर जवाबी कार्रवाई की थी, जिसके बाद दोनों परमाणु देशों के बीच टेंशन है। कुरैशी ने दावा किया है कि भारत की तरफ से यह हमला 16 से 20 अप्रैल के बीच हो सकता है। पाकिस्तान में खौफ कितना है इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि इंडियन एयर फोर्स की स्ट्राइक के एक महीने बाद भी पड़ोसी देश ने हवाई मार्ग पूरी तरह से नहीं खोले हैं।

स्ट्राइक के बाद ही पाकिस्तान ने भारत से आने-जाने वाली उड़ानों के लिए अपने एयरस्पेस को बंद कर दिया था। पाकिस्तान ने दो दिन पहले पश्चिमी देशों की ओर जाने वाली फ्लाइटों के लिए अपने एक हवाई रास्ते को खोला जबकि बाकी बचे 10 हवाई रास्ते अब भी बंद रहेंगे। पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया था, जिसमें सेना के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद भारत ने जवाबी कार्रवाई करते हुए 27 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक कर बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया था। इसके अगले दिन पाकिस्तान ने भारत की सीमा में घुसने की कोशिश की। पाकिस्तान के फाइटर जेट को खदेड़ने के दौरान पाक एयर फोर्स ने एक भारतीय विमान को गिरा दिया था और उसके पायलट को गिरफ्तार कर लिया। अगले ही दिन भारत की तरफ से पड़े दबाव के चलते पाकिस्तान को भारतीय पायलट को रिहा करना पड़ा था।

कुरैशी ने मुल्तान में पत्रकारों से कहा, ‘हमारे पास विश्वसनीय जानकारी है कि भारत पाकिस्तान पर एक और हमले की तैयारी कर रहा है। हमारी जानकारी के मुताबिक यह हमला 16 से 20 अप्रैल के बीच किया जा सकता है। कुरैशी ने इस बात की जानकारी नहीं दी कि उन्होंने किस आधार पर इस टाइमिंग की बात कही है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान देश के साथ इसकी जानकारी साझा करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने आगे कहा कि भारत के विदेश मंत्रालय को इस संबंध में ईमेल से पूछे गए सवाल के जवाब में अब तक कोई जवाब नहीं मिला है।

Our Video

MAIN MENU